30 December, 2017

तुरंत बदलें अपना 4 अंकों का पासवर्ड, टच करते ही स्मार्टफोन हो रहे हैं हैक |

हैकर्स मोबाइल फोन्स को हैक करने के लिए रोज नए-नए तरीके ईजाद कर रहे हैं। इन तरीकों से वो मोबाइल फोन से यूजर्स की इंफॉर्मेशंस चुरा रहे हैं। स्मार्टफोन सेंसर के डेटा के जरिये हैकर्स पिन और पासवर्ड रिकवर कर मोबाइल अनलॉक कर लेते हैं। 


यह जानकारी सिंगापुर की नांयांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी (एनटीयू) के रिसर्चर्स की ओर से मिली है। उन्होंने यह भी बताया कि स्मार्टफोन में इस्तेमाल होने वाले इंस्ट्रूमेंट्स जैसे कि गायरोस्कोप और प्रोक्सिमिटी सेंसेर्स फोन की सिक्योरिटी के लिए जोखिम भरे हैं।

रिसर्चर्स ने मशीन लर्निंग एलोग्रिदम और स्मार्टफोन में इस्तेमाल होने वाले छह तरह के सेंसर्स से इंफोर्मेशन जुटा कर एंड्रॉयड स्मार्टफोन अनलॉक करने का प्रयास किया। रिसर्चर्स ने महज तीन बार में ही 99.5 फीसद सटीकता से इस अनलॉक किया।
Post by Technical Guruji


शिवम भसीन के मुताबिक अब किसी भी एंड्रॉयड स्मार्टफोन को क्रैक करने की एक्यूरेसी बढ़कर 99.5 फीसदी तक पहुंच गई है। इसका मतलब अब हैकर्स किसी भी एंड्रॉयड स्मार्टफोन को 99.5 फीसदी सटीकता के साथ हैक कर सकते हैं उसके पिन और पासवर्ड का पता लगाकर उसे अनलॉक कर सकते हैं। एनटीयू की तकनीक के जरिए 4 डिजिट के 10,000 संभावित पिन नंबर्स को गेस किया जा सकता है।

स्मार्टफोन में जीरोस्कोप और प्रोक्सीमिटी सेंसर्स होते हैं जो उसमें सेंधमारी के लिए जिम्मेदार हैं। हैकर्स इन सेंसर को हैक करके यूजर्स की सारी जानकारी तक पहुंच जाते हैं। फोन में सेंसर का इस्तेमाल करने के लिए यूजर की ओर से किसी भी इजाजत की जरूरत नहीं होती। उनके मुताबिक जब कोई भी व्यक्ति अपने स्मार्टफोन में कोई भी नंबर प्रेस करता है, तो फोन डिफरेंट तरह से मूव करता है और सेंसर इस मूव को दर्ज कर लेता है। इसका मतलब ये है कि अपने एंड्रॉयड फोन के कीबोर्ड पर 1, 5 और 9 चाहे जो भी नंबर दबाएं लेकिन फोन में लगा सेंसर इस बात का पता लगा लेता है।जैसे कि 9 नंबर दबाने पर ब्लॉक होने वाली लाइट की तुलना में सीधे हाथ के अंगूठे से फोन में एक नंबर को दबाने पर ज्यादा लाइट ब्लॉक होती है।


4 डिजिट से ज्यादा का पासवर्ड का यूज करें
भसीन ने मोबाइल डिवाइसेज को और सुरक्षित रखने के लिए कहा है कि यूजर्स हमेशा अपने पिन को चार अंकों से ज्यादा का रखें, हो सके तो वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) इनेबल करें, फिंगर प्रिंट और फेशियल रिकॉग्लिशन जैसे विकल्प अपनाएं।

Mail: shivkweb@gmail.com

Whatsapp Button works on Mobile Device only