Technical Guruji - Virus Kya Hain or Kitne Types Ke Hote Hain ~ समझिए कंप्यूटर वायरस के गणित को

Share This To.

नमस्कार दोस्तों। स्वागत है आपका टेक्निकल गुरुजी पर। 
Types of computer viruses

दोस्तों आज इस पोस्ट में हम चर्चा करने वाले हैं कंप्यूटर वायरस के बारे में ओर आपको बताने वाले हैं कंप्यूटर वायरस के कुछ टाइप्स (Types) के बारे में।



दोस्तों VIRUS का पूरा नाम Vital Information Resources Under Siege है। वायरस कम्प्यूटर में छोटे- छोटे प्रोग्राम होते है जो auto execute program होते जो कम्प्यूटर में प्रवेष करके कम्प्यूटर की कार्य प्रणाली को प्रभावित करते है। यह वायरस कहलाते है। वायरस आपके कंप्यूटर सिस्टम को फैल, आपके कंप्यूटर को हैक या आपके कंप्यूटर से आपकी पर्सनल जानकारियां चुरा सकते हैं।

Virus hacking computer

- कंप्यूटर वायरस एक कंप्यूटर प्रोग्राम (Computer Program) होता है जो अपनी प्रतिलिपि (copy) कर सकता है और उपयोगकर्ता की अनुमति के बिना एक कंप्यूटर को संक्रमित कर सकता है ओर कंप्यूटर उपयोगकर्ता को इसका पता भी नहीं चलता है। वायरस अपने आप को कॉपी करके एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में जा सकता है। एक वायरस एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में तभी पहुंच सकता है जब इसका होस्ट एक असंक्रमित कंप्यूटर में लाया जाता है।

कंप्यूटर को वायरस से सुरक्षित रखने के लिए वायरस को समझना जरूरी होता है। तो चलिए जानते हैं कंप्यूटर वायरस ओर उसके कुछ प्रकारों के बारे में।


Computer Viruses or Computer Virus Types in Hindi

Virus system hacks gif



Virus -


वायरस एक ऐसा कंप्यूटर प्रोग्राम है जो खुद को कॉपी करता है। वह एक फ़ाइल से दूसरी फ़ाइल ओर एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में पहुँचता है। वायरस एक पेन ड्राइव के माध्यम से एक पीसी से दूसरे पीसी तक पहुंच सकता है।


Malware -


मैलवेयर ओर वायरस दोनों अलग अलग टर्म हैं। मैलवेयर जनरल टर्म है, जिसका मतलब होता है मैलिसस सॉफ्टवेयर, यानी कोई भी चीज जो आपके कंप्यूटर को नुकसान पहुंचा दे। मैलवेयर में वायरस, ट्रोजन हॉर्सेज, स्पाइवेयर, स्कैरवेयर इत्यादि शामिल होते हैं।


Spyware -


स्पाइवेयर ऐसा सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर पर इनस्टॉल होता है ओर सूचनाएं इकट्ठा करके सॉफ्टवेयर को बनाने वाले के पास भेजता है। यह पर्सनल सूचनाएं चुराता है।


Scareware -


इसमें यूजर के पास मैसेज आता है कि यह फ्री एंटीवायरस है ओर डाऊनलोड करने के लिए लिंक पर क्लिक करें। ऐसी लिंक्स पर क्लिक करने से यह स्कैरवेयर आपके कंप्यूटर में आ सकता है। यह आपके कंप्यूटर ओर पर्सनल जानकारी को नुकशान पहुंचा सकता है।


तो दोस्तों, ऐसे सभी तरह के वाइरसों से आपके कंप्यूटर को नुकशान पहुँच सकता है और आपकी पर्सनल जानकारी भी लीक हो सकती है। ऐसे वाइरसों से बचने के लिए आपको अपने कंप्यूटर को संक्रमित डिवाइस से दूर रखना चाहिए और अपने कंप्यूटर में कोई अच्छा से एंटीवायरस इनस्टॉल रखना चाहिए। एंटीवायरस आपके कंप्यूटर में वायरस को आपने से रोकने में आपकी मदद करेगा और पहले से मौजूद वायरस को खत्म करेगा।

Antivirus



Antivirus


एंटीवायरस एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो किसी भी मैलवेयर को कंप्यूटर में आने से रोकता है। अगर कंप्यूटर में मैलवेयर आ गया है तो उसका पता लगाना ओर उसको वहां से हटाना भी एंटीवायरस का काम होता है। 

अगर आप अपने कंप्यूटर पर ज्यादा इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं तो आपको वायरस से बचने के लिए अपने कंप्यूटर में प्रीमियम एंटीवायरस रखना चाहिए और अगर आप ज्यादा इंटरनेट इस्तेमाल नहीं करते हैं तो वायरस से बचने के लिए अपने कंप्यूटर में फ्री एंटीवायरस डाल सकते हैं।


कुछ अच्छे और फ्री कंप्यूटर एंटीवायरस -

एवीजी - http://avg. com
अवास्त - www.avast.com
अविरा - www.avira.com


इन फ्री एंटीवायरस से भी आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप को वायरस से बचा सकते हैं। आज की इस पोस्ट में बस इतना ही। ऐसी ही अन्य पोस्ट्स के लिए जुड़े रहिए टेक्निकल गुरुजी वेबसाइट के साथ।
 धन्यवाद

No comments:

Post a Comment

Leave A Massage

Join Our Newsletter

Get All The Latest Updates Delivered Straight Into Your Inbox For Free!

We Respect Your Privacy |